बहु उद्देशीय स्वर्ण ऋण

ऋण का प्रयोजन

निम्नलिखित की अल्पावधि उत्पादन/निवेश ऋण जरूरतों की पूर्ति करने

  • कृषि में लगे किसान, स्वयं की तथा/अथवा पट्टे पर ली गई जमीन पर खेती करने वाले अथवा फसल उगानेवाले।
  • डेरी, मुर्गीपालन, मछलीपालन, सूअरपालन, भेड़ आदि संबद्ध गतिविधियों से जुड़े किसान।
  • वे उद्यमी एवं किसान जिन्हें मशीनरी प्राप्त करने, भू विकास करने, सिंचाई, बागवानी, कृषि उत्पाद के परिवहन आदि के लिए निवेश ऋण की जरूरत है। सभी अन्य कृषि गतिविधियां जिन्हें भारतीय रिज़र्व बैंक/भारत सरकार/नाबार्ड दिशानिर्देशों के अनुसार कृषि के अंतर्गत वर्गीकृत करने के लिए अनुमति दी गई है।

Last Updated On : Tuesday, 02-03-2021

ब्याज दर